बोल बम का उद्घोष करते निकले हजारों कांवडि़ए

सावन के दूसरे सोमवार शिवमय हुई संस्कारधानी
जबलपुर। बोल बम और हर-हर महादेव के उद्घोष से आज शहर का वह मार्ग गूंज गया जहां से भी हजारों की संख्या में कांधे पर कांवड़ रखकर श्रद्धालु गुजरे। सावन मास के दूसरे सोमवार पर आज सुबह ग्वारीघाट से नर्मदा जल लेकर संस्कार कांवड़ यात्रा गाजे बाजे के साथ आरंभ हुई जो लगभग 35 कि.मी. का सफर तय कर दोपहर बाद खमरिया-मटामर स्थित कैलाशधाम में समाप्त होगी जहां भगवान भोलेनाथ का विधिविधान से नर्मदा जल द्वारा अभिषेक किया जाएगा। कांवडय़ात्रा में विभिन्न झांकियां आकर्षणक का केन्द्र रहीं। कांवडि़ए अपनी कांवड़ के एक ओर नर्मदा जल का पात्र तो दूसरे हिस्से में देवतुल्य पौधे रखकर चल रहे थे।
सुबह 7 बजे से पहले ग्वारीघाट के सिद्धघाट में हजारों कांवडिय़ों का जमावड़ा हो चुका था। यहां साधु संतों की मौजूदगी में नर्मदा पूजन के पश्चात विशाल कांवड़ यात्रा आरंभ हुई। चारों तरफ बोल बम औरहर-हर महादेव के स्वर गूंज उठे। कांवडय़ात्रा काएक छोर रेतनाका पहुंचा तब अंतिम छोर ग्वारीघाट तट रहा। ढोल धमाल के तथासंकीर्तन दलों के बीच यह कांवड़ यात्रा पोलीपाथर, रामपुर चौक, बंदरिया तिराहा, गोरखपुर, शास्त्री ब्रिज, मॉडल रोड, मालवीय चौक, लार्डगंज, बड़ा फुहारा, सराफा, फूटाताल, घमापुर, कांचघर चौक, सतपुला, गोकलपुर और रांझी होकर दोपहर बाद खमरिया-मटामर स्थित कैलाशधाम पहुंच रही थी जहां कांवडय़ात्रा का समापन भगवान शिव के जलाभिषेक के साथ होगा। यात्रा का नेतृत्व मटामर कैलाशधाम के रामू दादा व भैया जी सरकार कर रहे थे।
जगह-जगह हुआ स्वागत
विशाल संस्कार कांवड़ यात्रा का ग्वारीघाट से लेकर समापन स्थल मटामर तक जगह-जगह बनाए गए स्वागत मंचों से भव्य स्वागत किया गया तथा कांवडिय़ों को फल और जल की व्यवस्था भी की गई।
ये रहे मौजूद
कांवड़ यात्रा में साधु संतों के अलावा जनप्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिकों के साथ ही आयोजन समिति के शिवयादव, जगत बहादुर सिंह अन्नू, नीलेश रखल, पार्षद राजेश यादव, राजीव यादव, गुड्डू मिश्रा, राजेन्द्र मिश्रा, रंजीत सिंह, कमलेश सिंह, पवन यादव, गोविंद चौधरी, महेश गुप्ता, सुनील कुशवाहा सौरभ यादव, अतुल डोंगरे, व अन्य हजारों महिला पुरुष शामिल रहे। (फोटो : राजेश बर्मन)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*