बजट बैठक में जल संकट पर हंगामा

विपक्ष ने दिखाये आक्रामक तेवर
जबलपुर, संवाददाता। नगर निगम सदन की बजट बैठक में आज जल संकट का मुद्दा छाया रहा। जिसके कारण बजट पर चर्चा शुरू नही हो पाई और सत्तापक्ष बैकफुट में नजर आया। विपक्ष द्वारा जल संकट का मुद्दा जोरदार तरीके से सदन में उठाया गया। विपक्ष के हंगामे को देखते हुए नगर निगम अध्यक्ष द्वारा बैठक को स्थगित करना पड़ा।
बजट पर चर्चा के लिए आयोजित सदन की बैठक पूर्वाह्न 11.30 बजे प्रारंभ हुई। विपक्ष ने बजट पर चर्चा करने के पूर्व शहर में व्याप्त जल संकट पर चर्चा करने का प्रस्ताव रखा। विपक्ष का कहना था कि भीषण गर्मी से शहरवासियों को पानी के लिए तरसना पड़ रहा है। रमनगरा व ललपुर जल संयंत्र में जब तब खराबी पर आती है। पानी सप्लाई के बनाई गई कई टंकियां पूरी नही भर पा रही है। कुछ टंकियों से पानी की सप्लाई अभी तक शुरू नही हो पाई है। शहर के कई इलाकों में लोगों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। टैंकर से भी जल आपूर्ति ठीक ढंग से नहीं होने के कारण जल संकट विकराल रूप धारण करता जा रहा है।
विपक्ष ने जब प्रभारी श्रीराम शुक्ला को घेरते हुए कहा कि उन्होंने वार्ड में जल संकट के संबंध में पार्षदों से चर्चा तक नही की। गर्मी प्रारंभ होने के पूर्व वार्ड पार्षदों से जल संकट के मुद्दे पर चर्चा करने की परम्परा रही है। इसके अलावा जल व्यवस्था पर प्रतिवर्ष करोड़ों रुपये खर्च किया जाता है। इसके बाद भी गर्मी के मौसम में शहरवासियों को जलसंकट की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। अरबों रूपये खर्च करने के बावजूद भी जल संकट की समस्या का सप्लाई निदान नही हो पाया है।
बैठक स्थगित कर अध्यक्ष ने की कक्ष में चर्चा
पार्षद राजेश यादव क्षेत्र में व्याप्त जल संकट के विरोध में तीन दिन से धरने पर बैठे हुए है। तीन दिन बाद भी धरने पर बैठे पार्षद से चर्चा नही किये जाने को सत्ता पक्ष की हठधर्मिता बताते हुए विपक्ष ने हंगामा किया। विपक्ष की मांग थी कि बजट से पहले जल संकट के मुद्दे पर चर्चा की जाये। इसके अलावा गोकलपुर पार्षद का धरना समाप्त करवाने चर्चा के लिए एक शिष्टमंडल भेजा जाये। नगर निगम अध्यक्ष ने बैठक स्थगित कर शिष्टमंडल के संबंध में चर्चा करने सत्ता पक्ष व विपक्ष के पार्षदों को अपने कक्ष में बुलाया। समाचार लिखे जाने तक अध्यक्ष कक्ष में चर्चा जारी थी और बजट बैठक शुरू नहीं हुई थी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*