मैं खुशनसीब हूं कि मुझे दो-तीन पीढियों के लोग पहचानते हैं : चंकी पांडे

आज अधिकतर लोग चंकी पांडे को भूल गए होंगे, पर वो बॉलीवुड के एक्शन हीरो अक्षय कुमार के सीनियर रह चुके हैं ।  चंकी पांडे अक्षय कुमार के साथ डांस क्लास में थे, उन्होंने अक्षय को डांस सिखाया, पर ख़ुद उन्हें फि़ल्मों में कोई लीड रोल नहीं मिल सका ।
उन्होंने कहा, “आज की तारीख़ में पांच साल का बच्चा मुझे आखरी रास्ता के नाम से पहचानता है, उसकी माँ मुझे मेरी पुरानी फि़ल्मों से पहचानती है. यह भगवान् का तोहफ़ा है कि मुझे दो-तीन पीढियों के लोग पहचानते हैं.”
अस्सी के दशक में फि़ल्मों में एंट्री के लिए संघर्ष करने वाले चंकी पांडे को निर्माता पहलाज निहलानी ने 1987 में धर्मेंद्र और शत्रुघन सिन्हा की फि़ल्म ‘आग ही आगÓ में मौका दिया था ।  पहलाज निहलानी से पहली अनोखी मुलाक़ात का जि़क्र करते हुए चंकी पांडे ने कहा कि वे एक शादी में नाड़े वाला कुर्ता पजामा पहने पंहुचे. वहां शराब पीने के बाद जब वे शौचालय गए तो उनसे पाजामे का नाड़ा नहीं खुल रहा था ।
निहलानी ने चंकी पांडे की मदद की. वहीं बातों बातों में ही अगली फि़ल्म में अभिनय करने का प्रस्ताव भी दिया. इस तरह उनके अभिनय की गाड़ी चल पड़ी ।  फि़ल्मों में हीरो के भाई और दोस्त का किरदार निभाते आए चंकी पांडे अब हास्य किरदारों में ही नजऱ आते है. ‘बेग़म जानÓ में उन्हें नकारात्मक भूमिका निभाने का मौक़ा मिला ।  वे इस किरदार को अपने अभिनय का पड़ाव मानते है ।  राष्ट्रीय अवॉर्ड विजेता बंगाली निर्देशक श्रीजीत मुखर्ज़ी निर्देशित बेगम जान में चंकी पांडेय के साथ विद्या बालन हैं ।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*